5G
5G

डिजिटल क्रांति ने हमारे जीवन को पूरी तरह से बदल दिया है। तकनीकी हमारे व्यक्तिगत,
सामाजिक और कामकाजी जीवन के हर पहलू में प्रवेश किया है। जिसके कारण हम पहले की तुलना में तेजी से काम कर रहे हैं। चाहे आप एक व्यवसाय कर रहे हों, एक कामकाजी पेशेवर,
एक छात्र या एक घरेलू महिला आदि, मोबाइल फोन और डेटा कनेक्टिविटी ने हमारी जीवन
शैली को नई ऊर्जा दी है। यह कहना गलत नहीं होगा कि आज के स्मार्टफोन और हाई-स्पीड डेटा
के युग में आपकी कनेक्टिविटी आपकी सफलता को निर्धारित करती है। वर्तमान पीढ़ी के
युवाओं के जीवन में गति महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। जीतनी जल्दी हो सके वे अपना काम
खत्म करना चाहते हैं। जिस काम को करने में घंटों लगता हैं, वह अब एक मिनट में खत्म हो
जाते हैं। यह सब सम्भव हुआ है 4G के आने से। 4G ने हमारी जिंदगी को बहुत आसान बना
दिया है। यदि सोचों की 5G नेटवर्क आता हैं, तो भविष्य कहां होगी?

यहां यह जानना आवश्यक है कि 5G क्या है?

5G आने से ना इंटरनेट की स्पीड कई गुना बढ़ जाएगी, बल्कि टेक्नोलॉजी की दुनिया में भी क्रांति लाएगी।
अब सवाल यह उठता है कि 5G नेटवर्क कब पूरी तरह से भारत में आएगा और लोगों का जीवन
बदल देगा। कई कंपनियों ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है।

Airtel ने 5G स्पीड का परीक्षण किया

पिछले साल, Airtel ने भारत का पहला सफल परीक्षण 5G स्पीड के साथ किया।
5G मोबाइल नेटवर्क की यात्रा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। हाल ही में एयरटेल ने कई
अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के साथ साझेदारी की है। जिसके माध्यम से एयरटेल 5G सेवाओं के
विकास के लिए काम करेगी।

5G नेटवर्क के आने से क्या होगा?

5G नेटवर्क के साथ, आप फ़ोटो, वीडियो या किसी भी तरह के डेटा को 10 गुना तेज़ गति से भेज
सकते हैं। उदाहरण के लिए, फूल एच डी  फिल्म को डाउनलोड करने में 4G से 10 मिनट लगते
हैं, जबकि 5G से उसी फिल्म को डाउनलोड करने में केवल कुछ सेकंड लगेंगे। इसके अलावा,
5G की मदद से, आप घर पर उपयोग किए जा रहे किसी भी अन्य इंटरनेट डिवाइस की तुलना में
तेजी से चलेंगे।

VR and AR

5G के आने से VR (Virtual Reality) और AR (ऑगमेंटेड रियलिटी) तकनीक को जबरदस्त
बढ़ावा मिलेगा। अगर वीआर और एआर तकनीक मनोरंजन में संभावनाओं से बेहतर हैं और आनलाइन गेम्स की भी डिमांड बढ़ेगी। आप बिना किसी रुकावट के हाई-डेफिनिशन वीडियो या
फिल्में ऑनलाइन देख पाएंगे। इसके अलावा, यदि आपका शौक 5 जी नेटवर्क की तुलना में ऑनलाइन गेम खेलना है, तो आपकी मदद करेगा, क्योंकि ऑनलाइन गेम में कम अंतराल के
साथ हाई स्पीड की आवश्यकता होती है और 5G दोनों देने में सक्षम होंगे।
5जी वायरलेस कनेक्टिविटी के साथ सेल्फ ड्राइविंग कार, रिमोट रोबोटिक सर्जरी, स्वचालित
हथियार और इस तरह के कई साइंस फिक्शन जैसी चीजें संभव होंगी।

अर्थव्यवस्था में बदलाव

5G नेटवर्क आने के बाद, वैश्विक अर्थव्यवस्था में बड़े आर्थिक बदलावों की उम्मीद की जा रही है
और लोगों के जीवन में बड़े तकनीकी बदलावों की उम्मीद की जा रही है। अब अर्थशास्त्री इन
परिवर्तनों के लाभों की गणना कर रहे हैं। लंदन के सूचना प्रदाता के अनुसार, 5G की वार्षिक
बिक्री 2035 तक 12 ट्रिलियन डॉलर ($ 8.3 मिलियन) की वृद्धि होगी। यह पिछले वर्ष की तुलना
में चीन के बजट जितना है।

उपभोक्ताओं के बारे में बोलते हुए, पहला बदलाव उनके मोबाइल डेटा स्पीड में आएगा और उन्हें
4G की तुलना में 100 गुना तेज इंटरनेट स्पीड मिलेगी। इस तरह, डिजिटल कनेक्टिविटी से जुड़े
काम आसानी से हो जाएंगे, और इस तरह से कुछ उद्योगों में उत्पादन बढ़ाने के लिए भी काम
करेगा।

आइए देखें कि 5 जी कनेक्टिविटी कैसे दुनिया में बदलाव लाएगी।

1. इंटरनेट से जुड़ने की बातें

इंटरनेट की गति बढ़ने के साथ, 5G आने पर कनेक्टिविटी का दायरा भी बढ़ेगा। आर्टिफिशियल
इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग की मदद से कई इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आसपास के क्षेत्र में जुड़
सकेंगे। उदाहरण के लिए, घरों में रखे गए सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को एक ही स्थान से और
एक ही उपकरण से नियंत्रित किया जा सकता है और यह क्षमता स्वचालित वाहनों द्वारा भी विकसित की जाएगी।

2. ट्रैफिक एरिया में बदलाव

कई शहरों में जहां पहले से ही किसी भी ड्राइवर की कारों को नहीं उठाया गया है,
व्यावसायिक उपयोग किया जाएगा। इस तरह, 5 जी कनेक्टिविटी सार्वजनिक परिवहन
की दिशा में भी सहायक होगी। 5G नेटवर्क-आधारित बसें और ट्रेनें समग्र रूप से चल
सकती हैं। इसी तरह, बेहतर वाहन शिपिंग और डिलीवरी के लिए तैयार होंगे, जो किसी
भी चालक के बिना चलने में सक्षम होंगे और एक निश्चित रास्ते पर आदेश ले जाएंगे

3. स्वास्थ्य क्षेत्र में

कैसा होगा यदि आपका स्वास्थ्य खराब है और कॉल पर एम्बुलेंस के बजाय, मिनी-
क्लिनिक  दरवाजे पर दस्तक दें। यह नई तकनीक से भी संभव होगा और डॉक्टर एक
जगह बैठकर वीडियो रेंज के जरिए जुड़ सकेंगे। उसी तरह, शरीर की जांच के लिए
मशीनों को जोड़ा जाएगा और डेटा ट्रांसमिशन तेजी से होगा। इसी तरह, ऑपरेशन के
लिए रोबोट की मदद ली जा सकती है।

4. सुरक्षा और युद्ध की स्थिति में

5G नेटवर्क आने के बाद, पूरी तरह से स्वचालित हथियार और रोबोट तैयार किए जा
सकते हैं, जो दिए गए लक्ष्य पर हमले के साथ साथ निर्णय लेने में सक्षम होंगे कि कब
और कैसे निशाना लगाना है और किस लक्ष्य पर निशाना साधना है। इसी तरह, फेस-
रिकग्निशन तकनीक ऑन-द-स्पॉट काम करेगी।

5. कार्यालयों में

ऑफिस का काम पहले से कहीं ज्यादा स्मार्ट, तेज और आसान होगा। एडवांस तकनीक
और मशीन सीखने में कर्मचारियों को कड़ी मेहनत करनी होगी और बाकी मशीनरी की
जिम्मेदारी होगी। अधिकांश कर्मचारियों का काम एक प्रतिनिधि के रूप में एक प्रस्तुति
देने तक सीमित होगा।

IHS Markit ने 5G तकनीक को प्रिंटिंग प्रेस, पावर और स्टीम इंजन के समान एक क्रांतिकारी
आविष्कार माना है। यह माना जाता है कि 2020 और 2035 के बीच, यह तकनीक भारत की
अर्थव्यवस्था के बराबर वास्तविक जीडीपी उत्पन्न करने में सक्षम होगी।